भारत में हॉलीवुड फिल्मों को बहुत ज्यादा पसंद किया जाता है। देश का युवा हॉलीवुड की तेज रफ्तार से इस कदर प्रभावित है कि वह भारत में फिल्म प्रदर्शन की तारीख की घोषणा के साथ ही हॉलीवुड फिल्मों का इंतजार करने लग जाता है। पिछले कुछ सालों में भारतीय बॉक्स ऑफिस पर हॉलीवुड फिल्मों ने कमाई के मामले में भारतीय फिल्मों को पीछे छोडने में कामयाबी प्राप्त की है। इस वर्ष भारतीय बॉक्स ऑफिस पर हॉलीवुड की कुछ बडी फिल्मों का प्रदर्शन होने जा रहा है, जिनकी सफलता की उम्मीद की जा रही है।

हालांकि वर्ष की शुरूआत में प्रदर्शित विन डीजल और दीपिका पादुकोण अभिनीत ‘ट्रिपल एक्स’ को जबरदस्त असफलता का सामना करना पडा, जबकि यह हॉलीवुड के साथ-साथ पश्चिम के अन्य देशों में कमाई के नए कीर्तिमान स्थापित करने में सफल रही। 12 अप्रेल 2017 को प्रदर्शित हुई विन डीजल की दूसरी फिल्म फास्ट एण्ड फ्यूरियस-8 ने भारतीय बॉक्स ऑफिस पर जबरदस्त तहलका मचाया है। इस फिल्म ने भारतीय बॉक्स ऑफिस पर अब तक 125 करोड का कारोबार करने में सफलता प्राप्त कर ली है। अपने प्रदर्शन के दूसरे सप्ताह में भी यह दर्शकों को अपनी तेज रफ्तार और एक्शन से खींचने में सफल है। इसके मुकाबले प्रदर्शित हुई भारतीय फिल्म ‘बेगम जान’ को दर्शकों ने पूरी तरह से नकार दिया। इस सप्ताह इसका मुकाबला तीन हिन्दी फिल्मों ‘नूर’, ‘मातृ’, ‘एक रानी ऐसी भी’ के साथ तमिल, तेलुगु, कन्नड, मलयालम, राजस्थानी, गुजराती, भोजपुरी, मराठी भाषा में बनी क्षेत्रीय फिल्मों से हो रहा है। इतनी फिल्मों के प्रदर्शन के बावजूद इसका दर्शक वर्ग टूटा नहीं है।

पिछले कुछ वर्षों पर जहां हॉलीवुड फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस पर जमकर कमाई की

द जंगल बुक
8 अप्रैल 2016 को प्रदर्शित हुई इस फिल्म ने भारतीय बॉक्स ऑफिस पर कमाई के नए रिकॉर्ड बनाये थे। 90 के दशक में भारतीय टेलीविजन पर ‘मोगली’ नामक धारावाहिक प्रसारित होता था, द जंगल बुक उसी पर केन्द्रित थी। इस फिल्म के लिए निर्देशक ने विशाल भारद्वाज और गुलजार के लिखे गीत ‘जंगल-जंगल बात चली है पता चला है थाने से चड्ढी पहने के फूल खिला है फूल खिला है’ को रीक्रिएट करवाया था। इस फिल्म ने भारत में 183 करोड की कमाई की थी।

फास्ट एण्ड फ्यूरियस-7
भारतीय बॉक्स ऑफिस पर पहली बार किसी हॉलीवुड फिल्म ने अपने प्रथम सप्ताह में 100 करोड का कारोबार करके हॉलीवुड को आश्चर्यचकित कर दिया था। यह फिल्म थी अपनी तेज रफ्तार और जुनून के लिए पहचानी जाने वाली लोकप्रिय ‘फास्ट एण्ड फ्यूरियस’ सीरीज की सातवीं फिल्म। इस फिल्म की शूटिंग के दौरान इसके स्थायी अदाकार पॉल वाकर का निधन हो गया था। फिल्म प्रदर्शन के वक्त दर्शकों की सहानुभूति पॉल वाकर के साथ रही और फिल्म ने भारत में 100 करोड से ज्यादा का कारोबार करके हॉलीवुड फिल्मों को एक नई दिशा प्रदान की। फास्ट एण्ड फ्यूरियस-7 ने भारत में 149 करोड की कमाई की थी।

अवतार
क्लासिक फिल्म ‘टाइटैनिक’ बनाने वाले जेम्स कैमरून ने वर्ष 2009 में विश्व को एक और क्लासिक फिल्म ‘अवतार’ दी। वीएफएक्स दृश्यों की बेहतरीन प्रस्तुति रही ‘अवतार’ ने पश्चिमी देशों के साथ-साथ भारत में भी जबरदस्त कमाई की। अवतार से भारतीय दर्शक तकनीक के श्रेष्ठ प्रयोग से वाकिफ हुई। 18 दिसंबर 2009 को प्रदर्शित हुई इस फिल्म ने भारत में 145 करोड का कारोबार किया था।

जुरासिक वल्र्ड
स्टीवन स्पीलबर्ग ने 1993 में विश्व को जुरासिक पार्क नामक एक ऐसे पार्क की सैर कराई जिसमें लुप्त हो चुके जानवर ‘डायनासोर’ के संसार को दिखाया गया था। यह पहली हॉलीवुड फिल्म थी, जिसे हिन्दी में डब करके प्रदर्शित किया था। भारत में इसके हिन्दी डब वर्जन ने सफलता का इतिहास रचा और हॉलीवुड फिल्मों को अपनी लागत निकालने का एक सशक्त जरिया दिया। इसके बाद स्टीवन स्पीलबर्ग ने इसके चार भाग बनाये, जिनमें चौथा भाग जुरासिक वल्र्ड के नाम से पेश किया गया था। 12 जून, 2015 को भारत में प्रदर्शित हुई इस फिल्म ने दर्शकों को एक बार फिर से ‘डायनासोर’ रोमांचित किया। भारत में इस फिल्म ने 113 करोड का कारोबार किया था।

एवेंजर्स – द एज ऑफ अल्ट्रॉन
वर्ष 2015 हॉलीवुड फिल्मों के लिए भारत में बेहतरीन वर्ष रहा। इस वर्ष प्रदर्शित हुई हर बडी हॉलीवुड फिल्म को बॉक्स ऑफिस पर सफलता प्राप्त हुई। हॉलीवुड सुपर हीरोज के आपसी द्वंद्व पर बनी एवेंजर्स-द एज ऑफ अल्ट्रॉन को हालांकि वो सफलता नहीं मिली, जिसकी उम्मीद हॉलीवुड को थी। फिर भी इस फिल्म ने धीरे-धीरे ही सही भारत में 101 करोड का कारोबार करने में सफलता प्राप्त की थी।

स्पाईडर मैन 3
हॉलीवुड फिल्म स्टूडियो मार्वल ने अपनी कॉमिक बुक के सुपर हीरो स्पाइडर मैन को लेकर एक दशक पूर्व फिर से फिल्मों का निर्माण शुरू किया। दर्शकों ने स्पाइडरमैन को हाथों-हाथ लिया था। इसके बाद इसके आगामी संस्करणों का प्रदर्शन होना शुरू हुआ। इस सीरीज की अब तक 4 फिल्मों का प्रदर्शन हो चुका है। 4 मई 2007 को प्रदर्शित हुई स्पाइडरमैन-3 भारतीय बॉक्स ऑफिस पर वो सफलता प्राप्त नहीं कर सकी जिसकी इसे हकदार माना जा रहा था। वैसे इसे हॉलीवुड में भी कोई विशेष सफलता नहीं मिली थी। भारत में यह फिल्म 100 करोड का कारोबार करने में चूक गई। इसने यहां पर 98.5 करोड का काारोबार किया था।

2012
21वीं सदी की शुरूआत के साथ ही ज्योतिषियों द्वारा सन् 2012 में पृथ्वी की समाप्ति की घोषणाएं की जाने लगी थींं। कहा जा रहा था कि सृष्टि 2012 में समाप्त हो जाएगी। इसी दृष्टिकोण और विचार को केन्द्र में रखकर 21वीं सदी के पहले दशक की समाप्ति से पूर्व हॉलीवुड में ‘2012’ नामक फिल्म का निर्माण किया गया, जिसमें इन्हीं सब बातों को दिखाया गया लेकिन अंत में यह भी बताया गया कि सृष्टि कभी समाप्त नहीं हो सकती हां, कुछ भयावह हादसे जरूर हो सकते हैं। 12 नवंबर 2009 को प्रदर्शित हुई इस फिल्म को हॉलीवुड के साथ-साथ भारत में भी आशातीत सफलता नहीं मिली। फिर भी भारतीय बॉक्स ऑफिस पर इस फिल्म ने 94 करोड का कारोबार करने में सफलता प्राप्त की थी।

द अमेजिंग स्पाईडर मैन
वर्ष 2007 में स्पाइडर मैन-3 की असफलता ने मार्वल स्टूडियो को इस बात का संकेत दिया कि उनकी इस सीरीज को दर्शक पसन्द नहीं कर पा रहे हैं। वजह साफ थी भारतीय दर्शकों को स्पाइडरमैन का जमीन से ऊपर उडना पसन्द नहीं आ रहा था। वो इसमें कुछ बदलाव चाहता था, जो हॉलीवुड के दर्शकों की भी मांग थी। इसी को देखते हुए मार्वल ने 2012 में द अमेजिंग स्पाइडरमैन नामक फिल्म प्रस्तुत की जिसमें दर्शकों को एक नहीं बल्कि दो-दो स्पाइडर मैन नजर आए थे। पिछले एक दशक में आई हॉलीवुड फिल्मों में यह पहली ऐसी फिल्म थी जिसे भारतीय बॉक्स ऑफिस पर असफलता प्राप्त हुई। 29 जून 2012 को प्रदर्शित हुई इस फिल्म ने भारत में मात्र 87 करोड का कारोबार किया।

द अमेजिंग स्पाईडर मैन 2
असफलता के बावजूद अपनी फिल्म को सफल बताते हुए मार्वल स्टूडियो ने इस फिल्म का दूसरा भाग द अमेजिंग स्पाइडरमैन-2 के नाम से वर्ष 2014 में पेश किया। जहां पिछली फिल्म को यहां पर 87 करोड मिले थे, वहीं 1 मई 2014 को प्रदर्शित हुई ‘द अमेजिंग स्पाइडरमैन-2’ को सिर्फ 82 करोड से संतुष्ट होना पडा। यह इस सीरीज की फिल्मों की सबसे बडी असफलता थी। फिर भी निर्माताओं द्वारा इसकी अगली कडियो को बनाने का काम लगातार जारी है। इस वर्ष इसका अगला संस्करण ‘स्पाइडरमैन होम कमिंग’ के नाम से प्रदर्शित किया जा रहा है। आगामी 7 जुलाई को यह फिल्म भारत में प्रदर्शित होने जा रही है। उम्मीद जताई जा रही है कि यह फिल्म जरूर सफल होगी।

लाइफ ऑफ पाई
भारतीय सितारों से सजी हॉलीवुड की इस फिल्म ने समीक्षकों द्वारा सराहना तो बहुत पाई और कई पुरस्कार भी अपनी झोली में डाले। इंसान और जानवर के रिश्तों को बडी बारीकी से दिखाया गया। सूरज शर्मा, तब्बू और इरफान खान जैसे सितारे इस हॉलीवुड वेंचर में नजर आए लेकिन इसे बॉक्स ऑफिस पर सफलता प्राप्त नहीं हुई। हालांकि जिस तरह का इस फिल्म का प्रस्तुतीकरण था उसे देखते हुए 23 नवंबर 2012 को प्रदर्शित इस फिल्म की 80 करोड की कमाई आश्चर्यचकित करने वाली थी।

टाईटैनिक 3डी
वर्ष 1997 में हॉलीवुड ने मारधाड, सैक्स और गुप्तचरी से इतर एक ऐसी प्रेम कहानी को दर्शकों ने सामने रखा जिसने न सिर्फ अपने प्रस्तुतिकरण बल्कि अपने लाजवाब अभिनय और सशक्त कथा-पटकथा के साथ अपने खूबसूरत फिल्मांकन के बूते विश्वभर के दर्शकों को अपना दीवाना बनाया था। 19 दिसंबर 1997 में प्रदर्शित हुई इस फिल्म ने भारत में जबरदस्त कामयाबी प्राप्त की थी। वर्ष 2009 में अपनी 3डी फिल्म अवतार की अप्रत्याशित सफलता के बाद जेम्स कैमरून ने टाइटैनिक को 3डी में परिवर्तित करके एक बार फिर से विश्व भर में प्रदर्शित किया। अमेरिका में यह फिल्म 4 अप्रैल 2012 को प्रदर्शित हुई और भारत में 6 अप्रैल 2012 को। अपने प्रदर्शन के साथ ही इसने 15 साल पुराना जादू फिर चलाया और बॉक्स ऑफिस पर सफलता प्राप्त की। इसने भारत में 76 करोड का कारोबार करने में सफलता प्राप्त की।

आयरन मैन 3
मार्वल प्रस्तुति आयरन मैन-3 26 अप्रैल 2013 को भारत में प्रदर्शित किया गया। इसके पिछले दो संस्करणों को जहां भारत में अपेक्षित सफलता प्राप्त हुई थी, वहीं तीसरे संस्करण को भारत में एक तरह से नकार दिया गया। यहां पर इसने मात्र 75 करोड का कारोबार करने में सफलता प्राप्त की थी।

(Visited 13 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*
Website